Categories
Uncategorized

कुछ अन कहे शब्द

बीते 5 महीने के बाद मैं उदयपुर की उन गलियों में वापस
आया इन 5 महीने में इतना डिप्रेशन में था कि बताना
मुश्किल है मुझे लगता था कि सिर्फ में ही वो बन्दा हूँ
जो इतना परेशान हूँ पर जब उन दोस्तों से मिला तो ऐसा लगा
कि मैं दुसरी दूनिया मैं आ गया हूँ पर उस दुनिया में भी दाग
था वो भी परेशान थे जिदंगी से एक ऐसी बीमारी से जो हमने कभी सोचा नहीं था कि इतने दुर रहगे होस्टल से अपने केरियर से भी इतने दुर होगें ऐसा कभी सोचा नहीं था हम सब साथ उसी
होटल में गये जहां पहले चाय पीते थे सब ने एक दूसरे की दुख भरीया दास्तान सुनाई हम वापस होस्टल आ गये हम भुखे थे
दोस्त पहले ही दोस्त को बुलाया मिलने के और साथ में खाना
लाने को भी बोला वो खाना सिर्फ एक का ही लाए अब हम एक
टिफिन मैं चार थे में पुरा दिन वही ऐसा लग रहा था कि इस जगह को कभी छोडु नहीं ये होस्टल मेरी लाइफ का सबसे बड़ा तोहफा था जो मुझे बोलने वह जिदंगी जीने के बारे में बताया
मैं इसे छोडना भी नहीं चाहता था मन कर रहा था कि यही कमरा ले लु पर पेसे भी नहीं अंदर ही अंदर फिर से मे उस जंगल में गुस गया जहां सिर्फ निराशा मिलती है अब मैं वापस आ गया घर ; घर आते ही वही चालू जो पिछले 5 महीने से चल रहा था लड़ाई जगडा फिर वही जिदंगी अकेला में और मेरा फोन और ईयरफोन उसमें पडे ऐसे गाने जो न जाने मेरे भी समझ में नहीं आते हैं मै फिर से अकेला हो गया अब तो नींद आनी भी बंद हो गई दिन रात बस एक ही सवाल आखिर कब यह दुख कम होगा
कब मिटेगी यह गरीबी कब आएगा अच्छा भविष्य कितने दिनों बाद यह सब सवाल मुझे दिन रात अंदर ही अंदर ठुडंते खोजते थे मुझे कही न कही एक ऐसे दोस्त की चाह थी जिसे मैं अपना दुख बता सकता पर इस अकेली जिदंगी मैं दोस्त बनना भी मुश्किल है आज कल दोस्ती सिर्फ कुछ लम्हे तक सीमित
होती उनका मतलब कुछ और होता है होता कुछ और…. कहते हैं
              कहते हैं किसी की सुन्दर तस्वीर
             हम सिर्फ सपनों में बना सकते हैं
बिल्कुल ऐसा ही हो रहा है मेरे साथ भी मैं जिसे पसंद करता हूँ
वो अभी तक सपनों में ही है कभी बाहर ही नहीं आयी
ऐसा नहीं कि मेनें कभी खोजा नहीं काफी खोजा सोशल मीडिया हर एक जगह पर पर एक लडकी मिली तो उसके ख्याल और मेरे ख्याल काफी अलग थे में एक ऐसी दोस्त चाहता
जो मुझसे बाते करें मुझे कुछ सीखाए उसके कुछ सपने हो जिसे
वो पुरा करे पर आज कल इसका पुरा उल्टा है आज कल कि लडकियाँ के सपने सिर्फ शादी है इसके अलावा वो कोई सपने
नहीं देखना चाहती हैं आज कल प्यार मोहब्बत सिर्फ एक शब्द
बन कर रह गया है

By Vishnu Bairwa

10 replies on “कुछ अन कहे शब्द”

May be tum shi ho…but esa jruri nhi ki hr ldki ka yahi spna hota hai ki unko shaadi karni hai..bs …I can understand..tumhe frnd ki jrurt hai..but jinhe hm kojte hai puri zindgi vo hmare samne hi hote hai…hme bs apna nazariya bdlne ki jrurt hoti hai….and one more thing…pyaar sb kuch nhi hota….

Liked by 1 person

मैं ये जान नहीं पाता हूं पर दोस्त मेरी बस्ती के लोग अलग है वो एक सिमीत क्षेत्र में ही रहते हैं और रहना चाहते हैं यहां की सोच कि स्थिति भी वैसी ही है और प्यार मुझे बचपन से है कोई हैं जिसे मैं प्यार करता हूँ वौ मुझे प्यार करती हैं पर कोन नहीं पता

अभी तक एक जंगल में ही हूँ मैं

Like

अगर तुम किसी से प्यार करते हो..और तुम्हे लगता है कि वो भी करती होगी…तो एक बार उससे ही क्यू नही पूछ लेते..?

Like

वो अभी तक मिला ही नहीं जो हमें समझे में उसे समझु शायद एक डायरी और इन किताबों, मोबाइल फोन के गाने और मेरे ईयर फोन अभी तक यही है मेरे पास है और सोशल मीडिया जिस पर मैं खोजता उसे हर पल पर कहा है, कौन है, कैसी है नहीं पता

Like

दोस्त, कभी कभार जिसको हम ढूंढ़ रहे होते है वो हमे नहीं मिलते….. शायद तुम अपनी खुशी गलत जगह ढूंढ़ रहे हो…खुद के लिए जियो..जो भी तुम्हारी लिए बनी है….वो तुम्हारी पास आ जाएगी…..।। सब कुछ भगवान पर छोड़ दो…सब कुछ अच्छा होगा ।😇

Like

यह जिदंगी एक किरदार हैं मेरा किरदार अधुरा है. दोस्त में भगवान इन सब में विस्वास नहीं करता हूँ

Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s